0
loading...

बड़ा गणपति मंदिर १८७५ में बना था पुराणी कथाओ के अनुसार उस वक़्त के अवंतिका (उज्जैन) शहर के किसी व्यक्ति को स्वप्न में गणेश जी का दर्शन हुआ, वह जब सुबह उठा तो गणेश जी की कृपा पाने के लिए उनकी मूर्ति बनाने लगा | उस व्यक्ति का नाम श्री दधिची माना जाता है ,जो की बहुत बड़ी मूर्ति बने थी बड़ा को अंग्रेजी में (Large) कहते है, इस कारण मंदिर का नाम बड़े गणपति हुआ | बड़ा गणपति एक बहुत बड़ी मूर्ति है जो लगभग २५ फीट ऊँची है और शायद विश्व में सबसे उची है और मूर्ति का रंग सिंदूरी (Bright Orange)  है.इस मूर्ति के सबसे बड़े आकर्षण की बात यह है की यह बहुत सारे पदार्थो से मिलकर बनी है जैसे इसमें ईट (Brick),चुना पत्थर (lime stone), और सात जगहों की मिटटी ( अयोध्या, मथुरा, माया, काशी, अवंतिका/उज्जैन, द्वारका और गाय, घोडा और हाथी की लीद के साथ-साथ पंचरत्न का रख इन पंचरत्नो में हीरा, पन्ना,रूबी, नीलम और मोती है |
...

Post a Comment

 
Top