0
loading...
इंदौर में कुछ दिनों पहले मह्त्वाकाँक्षी प्रोजेक्ट पूर्ण हुआ जो की 50 करोड़ की लागत I.D.A. द्वारा  बना पिपलियापाला पर बना पार्क है जिसका नाम अटल बिहारी वाजपेयी क्षेत्रीय उद्यान ( Atal Bihari Vajpeyi Regional Park ) है इसे पिप्लियापाला पार्क के नाम से भी पुकारा जाता है | इस उद्यान में काफी कुछ देखने के लिए मौजूद है | यहाँ की कुछ खासियत है :-
  • म्यूजिकल फाउंटेन : संगीत की लय पर फव्वारा डांस करता हुआ नजर आएगा।
  • जंपिंग जैट फाउंटेन : पानी एक तरफ से निकलकर तीन-चार चरणों में जंप करता हुआ आगे बढ़ता दिखाई देखा।
  • आर्टिस्ट विलेज : ग्रामीण परिवेश में तैयार किए गए स्थल पर लोक संस्कृतियों को दर्शाने के लिए तैयार किए गए प्लेटफार्म पर कलाकार अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर सकते हैं।
  • भूल भुलैया : सायकस बैंजामिन के पेड़ों की भूल-भुलैया का निर्माण।
  • भारतीय शैली के उद्यान : इसमें अलग-अलग डिजाइन हैं जो ऊंचाई से देखने पर नैकलेस जैसा नजर आता है।
  • फ्रेंच गार्डन : फ्रेंच स्टाइल के गार्डन है जिसमें भूल-भुलैया, रोज गार्डन आदि को शामिल किया गया है।
  • जैव विविधता गार्डन : प्रवेश द्वार के बाद किनारे पर विभिन्न प्रजातियों के पौधे लगाए गए हैं।
  • मिस्ट फाउंटेड : धुएं का आभास करवाने वाला फव्वारे से गरमी में सुकून मिलेगा। तापमान कम करने का भी काम करता है। बोटिंग की भी सुविधा है।
  • फॉस्ट फूड जोन : जोन में छह रेस्टोरेंट हैं। इनमें अच्छी गुणवत्ता के खाद्य और पेय पदार्थ होंगे।
  • लैक व्यू पॉइंट : तालाब में 60-70 फीट ऊंचा पानी उडा़ने वाले फाउंटेन लगाए गए हैं। यहां से तालाब का नजारा दिखेगा।
  • बोटिंग : रीजनल पार्क से सटे पीपल्यापाला तालाब में बोटिंग की व्यवस्था भी की गई है। 
    यहाँ पार्क 41 .31 हेक्टेयरक्षेत्रफल में फेला हुआ है | इसके अतिरिक्त यह उद्यान सुबह 11 से रात 9 बजे तक खुला रहेगा परन्तु केवल मंगलवार को यह बंद रहेगा |  इस पार्क के रखरखाव पर लगभग हर महीने 25 लाख का खर्च आएगा इस कारण से यहाँ बड़ो के लिए 25 रु और बच्चो के लिए 10 रु टिकट रखा गया है | पार्क में खाने पिने की वस्तुए ले जाने पर प्रतिबन्ध है परन्तु आप पानी की बोतल ले जा सकते है |

    ...

    Post a Comment

     
    Top